Sunday, May 8, 2011

vyapaar vridhi upaae

१ सोमवार को नै अंगूठी को गंगाजल गाए का दूध से स्नान करा कर शक्कर तुलसी के पत्रे व् सफेद फूल में रख दे 
व् स्नान आदि कर के पूजा कर के धारण करें .
२ कचा  सूत केसर के रंग से रंग कर व्यापार स्थल पर रख दें .
३ श्यामा तुलसी के आस पास अपने आप पैदा होने वाली खरपतवार को निकल कर स्तन पे पीले वस्त्र में बाँध कर गुरुवार को अपने व्यापर स्थल पर स्थापित करें .
४ अपने घर के द्वार के पास हल्दी से एक स्वस्तिक स्थापित करें और उस पर गुड और चने की दाल
 रखें  कुछ हीओ दिन में तबदीली दिखाई देगी .
५ बारह अभिमंत्रित गोमती चाकर ऑफिस की चोखट पर बाँध देने से भी ग्राहक आकर्षित होते हैं 
६  कार्य पर जाते समय इतर लगा कर जाएं 
वास्तु आचार्य 
९०१३२०३०४० 




1 comment: